जिस प्रकार हमारी अन्य शारीरिक समस्यायें आम होती हैं, ठीक उसी प्रकार यौन संबंधित समस्यायें भी आम होती हैं, इसलिए हमें इन यौन संबंधित समस्याओं की छिपाने की बजाए, इनका सटीक उपाय खोजने का प्रयास करना चाहिए। यदि किसी व्यक्ति की जिंदगी में उसका सेक्स अनुभव कड़वाहट व अंसतुष्टि भरा रहा हो, तो भी उस व्यक्ति को यौन समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। अमूमन जिन पुरूषों में किसी भी प्रकार की मर्दाना कमजोरी या पौरूषशक्ति का अभाव नहीं होता, उन पुरूषों का वैवाहिक जीवन जिंदगी भर खुशहाल और संतोषजनक होता है और सामाजिक रूप से भी उनका जीवन बहुत मजबूत रहता है। यही कारण है कि मर्दाना कमजोरी किसी भी प्रकार की हो, पुरूषों के आत्मविश्वास को कम कर देती है और उनके अंदर हीनभावना भर देती है। इसके साथ ही व्यक्ति अत्यधिक मानसिक तनाव में घिरा रहता है। कभी-कभी इन्हीं सब कारणों का परिणाम यह निकलता है कि व्यक्ति अपनी घुटी हुई जिंदगी से तंग आकर आत्महत्या तक कर लेता है। इसके अलावा धोखा, तलाक, सामाजिक उपहास ये सब रूप-रेखा सामने उभर कर आती है। जिन समस्याओं के कारण पुरूषों में मर्दाना कमजोरी आती है, उन समस्याओं को पूरी तरह समाप्त करने के कुछ देसी व प्राकृतिक नुस्खों के बारे में आज आपको बता रहे हैं। ये नुस्खे इन समस्याओं में रामबाण की तरह अपना असर दिखाते हैं। कैसी भी यौन समस्या हो, हर प्रकार की यौन समस्या और उससे जुड़ी हर समस्या का पूर्ण और स्थायी इलाज आयुर्वेद में समाहित है। आयुर्वेद जड़ से इन समस्याओं को दूर व नष्ट करने में पूरी तरह सक्षम है। यौन हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है। कई लोगों की जिंदगी में एक अवसर ऐसा आता है, जब वह अपनी सेक्स लाईफ में कई यौन समस्याओं का सामना करते हैं। चलिए यहां हम कुछ यौन समस्याओं और उनके समाधान के विषय में जान लेते हैं..

यौन समस्या के मुख्य कारण :

– हार्मोन्स एवं रक्त में टेस्टोस्टेरोन की कमी/हस्तमैथुन/भ्रामक यौन प्रदर्शन

– शीघ्रपतन/मांसपेशियों का कमजोर होना/ सेक्स शक्ति में कमी

– इरेक्टाइल डिस्फंक्शन यानी लिंग की मांसपेशियां कमजोर पड़ना

– धात रोग/स्वप्नदोष/वीर्य पतला होना नसों की दुर्बलता/जकड़ना

– शरीर में सप्त धातुओं की कमी

– अनियमित रक्तचाप

– वीर्य में शुक्राणुओं(Sperm) की कमी

– धूम्रपान और अल्कोहल की वजह से कमजोरी आना

– अनियमित खानपान की वजह से शरीर में दुर्बलता आना

– दुषित वातावरण(Population) की वजह से धातुओं और शरीर का संतुलन बिगड़ना

हमारी रोजमर्रा की जिदंगी में हमारा रहन-सहन और खान-पान से इन समस्याओं का सीधा संबंध होता है। अक्सर हम अपनी सेक्स समस्या के लिए मेडिसिन शाॅप में मिलने वाली अंग्रेजी दवाईयों का सेवन करते रहते हैं। मगर ये दवाईयां हमारी यौन समस्या को जड़ से खत्म नहीं कर पातीं। जब तक हम इन दवाईयों का सेवन करते हैं, तब तक ही इनका असर रहता है, किन्तु बाद में समस्या जस की तस बनी रहती है। यहां तक कि इन दवाईयों से होने वाले साइड इफेक्ट के कारण लीवर, किडनी, हार्ट भी बुरी तरह प्रभावित हो जाते हैं। हम इन दवाईयों के इतने ज्यादा आदि हो जाते हैं, कि अपनी बची-खुची यौनशक्ति भी खो बैठते हैं।

हमारी प्राचीन भारतीय संस्कृति में भी इस बात का प्रमाण मिलता है कि आयुर्वेद आज से नहीं, बल्कि कई वर्षों से लोगों के रोगों को जड़ से दूर करता आया है और आज भी कर रहा है। आयुर्वेद किसी भी रोग को जड़ से समाप्त करने में पूरी तरह सक्षम है जैसे- स्वप्नदोष, धातु रोग, शीघ्रपतन, हस्तमैथुन, नपुंसकता, मर्दाना कमजोरी ऐसी कई सेक्स समस्याओं को जड़ से मिटाने की क्षमता रखता है आयुर्वेद।

यदि कुछ आयर्वुेदिक जड़ी-बूटियों का सही और पर्याप्त मात्रा में मिश्रण करके सेवन किया जाये, तो व्यक्ति सभी सेक्स समस्याओं से जड़ सहित इलाज पा सकता है और वो कुछ जड़ी-बूटियां ये हैं जैसे- अश्वगंधा, मुसली, शुद्ध कौचा, शतावरी, शिलाजीत कौचा, अख्ख्ल हरो, अबरक भष्म, गोखरू, वन्य भष्म, कर्पुर।

उपरोक्त जड़ी-बूटियों में मुसली, शुद्ध कौचा, अश्वगंधा और शतावरी ये ऐसी तीव्र असरदार और गौरवशील औषधियां हैं, जिनके सेवन से रोगी में घोड़े जैसा बल और जोश आ जाता है। शिलाजीत को तो वैसे भी हिन्दूस्तानी वियाग्रा के नाम से भी संबोधित किया जाता है। गजब की सेक्स-पाॅवर के लिए मुसली और शतावरी जैसी जड़ी-बूटियों को रामबाण की श्रेणी में रखा गया है।

इन बताई गई औषधियों में से कुछ औषधियां ऐसी हैं, जिनका उचित और सही मात्रा में इस्तेमाल करने से यौन समस्याओं का जड़ से उपचार किया जा सकता है। लेकिन इन औषधियों में से कुछ का सेवन अलग-अलग रूप में करना होता है जैसे- भस्म के रूप में, कुछ सार तत्व, तो कुछ औषधियों को रस के रूप में सेवन करना होता है।

हमारे आयुर्वेदाचार्य जी ने इन औषधियों पर अथक प्रयास द्वारा आविष्कार करके हर एक औषधि की सही मात्रा और सही रूप में मिश्रण तैयार करके एक अत्यंत गुणकारी और लाभकारी औषधि(टेबलेट) का निमार्ण किया है जिसका नाम है- HORSE FIRE (हॉर्सफायर)
इस किट(दवा) को सरकारी आरोग्य विभाग(स्वास्थ्य विभाग) द्वारा भी मान्यता प्राप्त है।

आयुर्वेद के अनुसार मनुष्य कि यौन शक्ति को बाजी(घोड़े) की तरह ही बनाने की प्रक्रिया ही सेक्स शक्ति को बढ़ाने वाली होती है। इस HORSE FIRE का दिन में दो बार दूध के साथ सेवन करने के बाद पुरुष सेक्स से संबंधित सभी सुखों को प्राप्त कर सकता है, और इस समस्या का जड़ हमेशा के लिये समधाना किया जा सकता है।

HORSE FIRE के फायदे :

– यौन प्रदर्शन और शक्ति में वृद्धि।
– मर्दाना शक्ति आती है, वीर्य गाढ़ा बनता है।
– धातु रोगों का जड़ से इलाज होगा।
– सेक्स करने के टाइम पीरियड को बढ़ायें।
– शीघ्रपतन बंद करने में मदद करें।
– अधिक से अधिक यौन आत्मविश्वास और नियंत्रण का एहसास।
– अधिक रोमांचक यौन जीवन का आनंद।
– शुक्राणुओं की संख्या बढ़ता है।
– लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करता है।
– यह आपके हार्मोन के असंतुलन को विनियमित करने के लिए आपकी मदद करता है।
– इससे सेक्स की इच्छा बढ़ जाती है।

चिकित्सक स्वीकृत और अनुशासित
बिना कोई दुष्प्रभाव के साथ 100% सुरक्षित 100% आयुर्वेदिक HORSE FIRE लेने के लिए यहाँ आवेदन करें।